नशा तस्करों पर पुलिस का शिकंजा: नशा सप्लाई करने जा रहे व्यक्ति को पकड़ा(Police crackdown on drug smugglers: caught the person going to supply drugs

60
Quiz banner

Police crackdown on drug smugglers: caught the person going to supply drugs

पकड़े गए नशा तस्कर से बरामद नशे के बारे में जानकारी देते पुलिस के अधिकारी

जालंधर पुलिस के सीआईए विंग ने गुप्त सूचना के आधार पर नाकाबंदी करके मोटरसाइकिल पर नशा सप्लाई करने जा रहे एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए व्यक्ति के कब्जे से 115 ग्राम हेरोइन, 6 किलो गांजा और 63500 रुपये ड्रग मनी बरामद की है।

 

पकड़े गए नशा तस्कर की पहचान शशिकांत के रूप में हुई है। वह मोटरसाइकिल पर फिल्लौर की तरफ से नशे की सप्लाई लेकर जा रहा था। इसकी गुप्त सूचना सीआईए स्टाफ के प्रभारी पुष्प बाली को मिली। उन्होंने तुरंत इसके बारे में अपने वरिष्ठ अधिकारियों को बताया और एएसआई गुरमीत राम के नेतृत्व में टीम का गठन कर इस तस्कर को पकड़ने के लिए बेजा। इस तस्कर के बारे में पता चला कि यह वाया नूरमहल, गन्ना गांव से हुआ आ रहा है। गठित की गई टीम ने नाका लगा दिया। जब मोटरसाइकिल नाके पर आया तो उसे चला रहे व्यक्ति की तालाशी ली गई। तालाशी में नशे के साथ-साथ ड्रग मनी भी बरामद हुई। पुलिस को आशंका है कि जो उसके पास कैश बरामद हुआ है वह जो नशा रास्ते में सप्लाई करके आया उसका था।

पकड़े गए आरोपी की पहचान शशिकांत उर्फ ​​शशि, पुत्र पदन बहादुर, निवासी नाहर कांडा, पंज डोरा जगत पुरा, फिल्लौर, पीएस फिल्लौर जिला, जालंधर। के रूप में हुई है। जांच पड़ताल में पता चला है कि पकड़े गए आरोपी की बैकग्राउंड भी आपराधिक है। उसके खिलाफ पहले भी इरादा कतल, बंधक बनाकर मारपीट करने के साथ-साथ लूट का मामला भारतीय दंड संहिता की धारा 307, 160,324,148,149,380,427,326 में पुलिस थाना फिल्लौर दर्ज है। पकड़ा गया आरोपी मामला दर्ज होने के बाद फरार चल रहा था और पुलिस को वांछित भी था।

बड़ी हैरानी का बात है कि पकड़ा गया आरोपी सरेआम नशा बेचता था। नशा बेचने के लिए नशे के साथ-साथ उसे तोल कर देने के लिए छोटा डिजिटल वजन पैमानी भी साथ लेकर चलता था। जिसे जितना माल देना है उसकी पेमेंट लेकर उसे उतना माल सप्लाई कर देता था।