हाई रिस्क पर गूगल Chrome यूजर्स, सरकार ने जारी की एडवाइजरी, तुरंत करें यह काम

71
गूगल क्रोम और माइक्रोसॉफ्ट एज ब्राउजर का इस्तेमाल करने वाले यूजर्स के लिए सरकार ने चेतावनी जारी की है। IT मिनिस्ट्री के अंतर्गत आने वाली इंडियन कंप्यूटर इंमरजेंसी रेस्पॉन्स टीम (CERT-In) की मानें तो गूगल क्रोम और माइक्रोसॉफ्ट एज ब्राउजर का इस्तेमाल करने वाले यूजर्स के लिए सरकार ने चेतावनी जारी की है। IT मिनिस्ट्री के अंतर्गत आने वाली इंडियन कंप्यूटर इंमरजेंसी रेस्पॉन्स टीम (CERT-In) की मानें तो नज़रअंदाज़ करने वाले यूजर्स को भारी नुकसान हो सकता है। रिपोर्ट के मुताबिक, गूगल क्रोम में कई खामियां पाई गईं, जिसके चलते जालसाज दूर बैठकर ही आपके सिस्टम में खतरनाक कोड एग्जिक्यूट करने और सिक्यॉरिटी को बायपास करने जैसे काम कर सकते हैं।

ये यूजर्स हैं खतरे में 
सरकार की तरफ से यह चेतावनी खास तौर पर उन यूजर्स के लिए है, जो वर्जन 99.0.4844.74 या उससे पहले के गूगल क्रोम ब्राउजर का इस्तेमाल करते रहे है। सरकारी एजेंसी की चेतावनी में कहा गया है कि गूगल क्रोम ब्राउजर में ब्लिंक लेआउट, एक्सटेंशन, सेफ ब्राउजिंग, स्प्लिटस्क्रीन, एंगल, न्यू टैब पेज, ब्राउजर यूआई और जीपीयू में हीप बफर ओवरफ्लो के कारण खामियां मौजूद हैं।  सीईआरटी-इन ने कहा कि यूजर्स को तुरंत गूगल क्रोम वर्जन 99.0.4844.74 का अपडेट जल्द से जल्द करा लेना चाहिए.
Microsoft Edge के लिए भी खतरा
Google क्रोम के साथ, सीईआरटी-इन ने माइक्रोसॉफ्ट एज ब्राउज़र के यूजर्स को इसी तरह की खामियों की चेतावनी दी है। इसके तहत, जालसाज खासतौर पर तैयार की गई रिक्वेस्ट भेजकर इन कमजोरियों का फायदा उठा सकता है।
ऐसे अपडेट करें क्रोम ब्राउजर
अपने डेटा को सेफ रखने के लिए सभी यूजर्स को पुराना क्रोम ब्राउजर अपडेट कर लेना चाहिए।
इसे अपडेट करने के लिए क्रोम ब्राउजर ओपन करके Menu में जाएं।
इसके बाद Help ऑप्शन पर क्लिक करें।
यहां आपको About Google Chrome नाम का विकल्प दिखाई देगा।
यहां जाते ही आपका क्रोम ब्राउजर अपडेट होना शुरू हो जाएगा।
इसके बाद आपको ‘रिलॉन्च’ पर क्लिक करना होगा।