Apple भारत में पांच गुना बढ़ाएगी प्रोडक्शन, FY23 बनेंगे ₹47,000 करोड़ के आईफोन(Apple to increase production five times in India)

39
Apple भारत में पांच गुना बढ़ाएगी प्रोडक्शन, FY23 बनेंगे ₹47,000 करोड़ के आईफोन

नई दिल्ली. दिग्‍गज टेक कंपनी एप्पल (Apple) के भारत में कॉन्ट्रैक्ट मैनुफैक्चरिंग पार्टनर इस वित्त वर्ष में 47,000 करोड़ रुपये के आईफोन का प्रोडक्शन करेंगे(Apple to increase production five times in India). इकोनॉमिक्स टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले वित्त वर्ष में भारत में 10,000 करोड़ रुपये के आईफोन बने थे. इसका मतलब यह हुआ कि वित्त वर्ष 2022 की तुलना में प्रोडक्शन में पांच गुना इजाफा होगा. ये आईफोन फॉक्सकॉन, विस्ट्रॉन और पेगाट्रॉन ने बनाए थे. आईफोन प्रोडक्शन के लिए लगातार दूसरे साल कंपनी केंद्र सरकार की प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव यानी पीएलआई (PLI) स्कीम का लाभ उठा रही है.

वित्त वर्ष 2023 में आईफोन बनाने वाले आईफोन के लिए मिलने वाली पीएलआई के लिए जितने प्रोडक्शन की जरूरत है, उससे दोगुना से अधिक प्रोडक्शन की उम्मीद है. इस योजना के लिए प्रत्येक कांट्रैक्ट मैन्युफैक्चरर- फॉक्सकॉन, विस्ट्रॉन को 8,000 करोड़ रुपये के आईफोन बनाने की आवश्यकता है. रिपोर्ट के अनुसार, इस साल भारत में रिकॉर्ड 70 लाख आईफोन की शिपमेंट देखने को मिल सकती है. इससे एप्पल का लोकल प्रोडक्शन और फाइनेंशियल प्लानिंग के जरिए 5.5 फीसदी मार्केट शेयर बढ़ने की उम्मीद है.

वित्त वर्ष 2023 में विस्ट्रॉन 27,000 करोड़ रुपये के एप्पल फोन पर नजर रखेगी. वहीं, फॉक्सकॉन 12,000 करोड़ रुपये जबकि पेगाट्रॉन 8,000 करोड़ रुपये के ऐप्पल फोन का प्रोडक्शन करेगी. इसका मतलब यह हुआ कि कुल मिलाकर 47,000 करोड़ रुपये के आईफोन बनेंगे.

60 फीसदी हिस्सा एक्सपोर्ट
रिपोर्ट के मुताबिक, भारत ऐप्पल की ग्लोबल डिवाइस सेल में 1.5 फीसदी से कम योगदान देता है. प्रोडक्शन का 60 फीसदी हिस्सा एक्सपोर्ट के लिए रिजर्व रखा जाएगा. भारत ने स्मार्टफोन में चीन और वियतनाम को टक्कर देने के लिए 2020 में प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम लागू की थी. इसके तहत मैन्युफैक्चरर को 5 साल में 4 फीसदी से 6 फीसदी कैशबैक के रूप में इंसेटिव दिया जाता है.

गुम हो गया फोन? तो चुटकियों में ऐसे पता करें लोकेशन (find your lost phone)

सेमीकंडक्टर इंडस्ट्री का भी होगा विकास
बेंगलुरु में विस्ट्रॉन जबकि चेन्नई में पेगाट्रॉन मुख्य रूप से आईफोन 12 का प्रोडक्शन करती है. वहीं, एप्पल के लिए आपूर्ति करने वाली कंपनी फॉक्सकॉन तमिलनाडु के श्रीपेरंबदुर प्लांट में आईफोन 11, आईफोन 12 और आईफोन 13 का प्रोडक्शन करती है. इन प्लांट में तैयार हो रहे आईफोन के मॉडल दुनियाभर में बिक रहे हैं. आईडीसी इंडिया के रिसर्च डायरेक्टर नवकेंद्र सिंह के मुताबिक, प्रोडक्शन में तेजी आने के साथ भारत में सेमीकंडक्टर इंडस्ट्री के विकास में भी मदद मिलेगी.